हिंदी फिल्मो के वो 50 Ramantic Dialog जो हम भूल ही नहीं पाए

Nanhe Sipahi | Jun 22, 2017 10:06 PM


News Image
हम जितना चाहें उतना बहस करें, लेकिन हम अपने रोमांटिक बॉलीवुड फिल्मों को प्यार करते हैं। कुछ फिल्मों में ऐसे अद्भुत और बेहतर संवाद होते हैं कि वे आपको रोमांस की सुंदर दुनिया में ले जाते हैं । हमें इस बात को स्वीकार करने से कोई गुरेज़ नहीं की हमने कभी न कभी कहीं न कहीं इन हिंदी फिल्मो के डायलॉग का इस्तेमाल किया ही है |

अगर आपको रोमांस समझना है तो उसके पहले आपको आकर्षण , करिश्मा और संवाद समझना होगा | आज हम आपके लिए ले कर आये हैं ऐसे ही 50 Romantic dialog in hindi जिसे हम हिंदी फिल्मो के प्रेमी कभी नहीं भूल पाए एक नज़र -

1) बॉबी (1973)



“कोई प्यार करे तो तुमसे करे , तुम जैसे हो वैसे करे . कोई तुमको बदल कर प्यार करे तो वो प्यार नहीं , सौदा करे और साहिबा प्यार में सौदा नहीं होता .”



2) पाकीज़ा (1972)



“आप के पाओ देखे , बहुत हसीं हैं , इन्हें ज़मीन पर मत उतारियेगा , मैले हो जाएंगे .”



3) ओम शांति ओम (2007)



“कहते हैं अगर किसी चीज़ को दिल से चाहो तो पूरी कायनात उसे तुमसे मिलाने की कोशिश में लग जाती है .”

4) आशिकी 2 (2013)




“ये ज़िन्दगी चल तो रही थी … पर तेरे आने से मैंने जीना शुरू किया .”



5) फना (2006)



“हम से दूर जाओगे कैसे … अपने दिल से हमें भुलाओगे कैसे … हम वो खुशबु है जो साँसों में बस्ते हैं … खुद की साँसों को रोक पाओगे कैसे .”




News Image

इस महिला ने जनता पार्टी कि रैली में मुर्दाबाद के नारे लगवा दिए

बात सितम्बर 1977 की है जब देश में जनता पार्टी की सरकार थी, कांग्रेस और इंदिरा गाँधी को देश की ...


News Image

सनसनीख़ेज़ ख़ुलासा : न FIR में नाम, न गवाहों के बयान, पर भगत सिंह को दे दी थी फांसी

भगत सिंह मेमोरियल के अध्यक्ष इम्तियाज़ रशीद कुरैशी जो की लाहौर के रहने वाले हैं उनके द्वारा दायर एक याचिका ...


News Image

इस आदमी को गरीबी में रखने के लिए बहुत पैसा खर्च होता है

महात्मा गाँधी, जिन्हे कई लोग स्वतंत्र भारत के जनक भी कहते हैं, अपने अहिंसा के सिधान्तो, त्याग और साधारण जीवन ...


News Image

World War I: पेशाब में भीगा कपड़ा मुंह पर बांधते थे सैनिक, ये थी वजह

धरती के सीने को चीर कर रख देने वाला युद्ध था प्रथम विश्व युद्ध (WORLD WAR 1). इसकी शुरुआत 28 ...


News Image

आखिर क्यों नहीं घुस पाए मुग़ल कभी आसाम और पूर्वोत्तर के राज्यों में

हमें यकीन है अहोम राजाओं के बारे में आपने ना कभी पढ़ा होगा ना कभी सुना होगा. गलती हमारी नहीं, ...


News Image

इंदिरा की वो हांथी की यात्रा जिसने उन्हें सत्ता पर फिर से स्थापित किया

समय और सत्ता लगभग एक दूसरे के प्रयायवाची है. न समय हमेशा एक सा रहता है और न सत्ता ही ...