पटना: Live ट्रैन एक्सीडेंट देखने की इक्षा हुई तो ये कर दिया.

Nanhe Sipahi | Sep 02, 2017 09:09 AM


News Image
जिस दिन पटना में लालू जी रैली कर रहे थे, उसी दिन कुछ लोग बोरियत से छुटकारा पाने के लिए ट्रैन एक्सीडेंट करने की तैयारी कर रहे थे. सुनने में अजीब लगेगा और हो सकता है की ये लोग आपको सनकी भी लगें पर हम आपको बता दें ये खबर बिलकुल सच है. आश्चर्य की बात ये है की इन सनकी लोगों की संख्या १ या २ नहीं थी बल्कि लगभग १०० लोग सिर्फ ट्रैन का एक्सीडेंट लाइव होते देखने के लिए ट्रैन को डिरेल करने की पूरी तैयारी कर चुके थे.

पटना के बाँकाघट स्टेशन पर एक बड़ा रेल हादसा करने की पूरी तैयारी कर ली गयी थी. रेल पटरियों पर डिरेलमेंट का सामान रखकर ट्रेन को डिरेल कराने की तैयारी थी. इसी बीच पटरियों के पास निरीक्षण कर रहे बंकाघाट के स्टेशन अधीक्षक और एक आरपीएफ जवान कुमार गौरव की नजर डिरेलमेंट के जखीरे पर पड़ी और बड़ी साजिश का पर्दाफाश हो गया. ये घटना उसी दिन की है जिस दिन विपक्षी एकता दिखने विपक्ष पटना में रैली कर रहा था. जब यह मामला पकड़ में आया उसके कुछ ही देर बाद पटरियों पर से गरीब रथ और इस्लामपुर हटिया गुजरने वाली थी. साजिश रचने वाले बदमाशों से पूछताछ के बाद रेल सुरक्षा बल ने पटना जंक्शन रेलवे कोर्ट में पेश किया. जिसके बाद मंगलवार को पांच बदमाशों को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया.



डिरेल होती ट्रेन की लाइव देखना चाहते थे

आरपीएफ की जांच में यह बात सामने आई कि सुनियोजित साजिश के तहत ट्रेन के डिरेलमेंट की तैयारी की गई थी। मौके पर मौजूद बदमाश डिरेल होती ट्रेन को लाइव देखना चाहते थे। ट्रैक पर 11 मीटर लंबी रेल पटरी रखकर वे आसपास मौजूद थे। लेकिन इसी बीच रेल सुरक्षा बल के एक जवान की नजर रेल की पटरियों पर पड़ी और एक बड़ा हादसा होते-होते बच गया।




11 मीटर लंबा पटरी का टुकड़ा रखा था ट्रैक पर

रैली के दिन डिरेलमेंट की कोशिश की जानकारी मिलने के बाद रेल मंडल में हड़कंप मच गया और मौके पर राजेन्द्रनगर के आरपीएफ इंस्पेक्टर आर आर कश्यप, फतुहा रेल थाना प्रभारी ज्ञानेश कुमार झा और एक अन्य अफसर को भेजा गया। अफसरों ने पाया कि सौ की संख्या में मौके पर लोग मौजूद थे। आरपीएफ ने मौके से लोगों को खदेड़ा और पांच बदमाश पकड़ में आ गए। आनन-फानन में पटरी पर रखे गए 11 मीटर लंबा पटरी के टुकड़े को हटाकर रेल परिचालन शुरू कराया।

सतर्कता से टाला गया हादसा

दरअसल लगातार हो रहे हादसे और राजद की रैली को लेकर पटना में हजारों लोगों की भीड़ जुटी थी। रैली को लेकर दानापुर डिविजन में विशेष सतर्कता बरती जा रही थी। खासकर बढ़े रेल हादसे को लेकर एक-एक रेलकर्मी को चौकस रहने के निर्देश मिले थे।

28 अगस्त की रात जब रैली खत्म हो गई थी और रैली स्पेशल ट्रेनें ट्रैक से गुजरने के बाद पटरियों पर डिरेलमेंट का जखीरा तैयार किया गया। बदमाशों ने घटना को अंजाम देने के लिए उस जगह को चुना जहां से लोगों की पैदल आवाजाही कम होती है।



पूरे घटनाक्रम में फतुहा आरपीएफ पोस्ट में केस संख्या 335/17 के तहत रेलवे एक्ट में मामला दर्ज किया गया है। बदमाशों पर जानबूझकर यात्रियों की जान जोखिम में डालने, रेल परिचालन में बाधा उत्पन्न करने, हंगामा करने, रेलवे के कामकाज में बाधा उत्पन्न करने और प्रतिबंधित क्षेत्र में प्रवेश के मामले दर्ज किये गये हैं।

युवकों को साजिश के आरोप में आरपीएफ ने गिरफ्तार किया

मामले की जांच में लगी पुलिस उस समय चौंक गई जब इससे जुड़ा एक विडियो उन्हीं लोगों के पास से मिला। विडियो में रेलवे ट्रैक पर डिरेलटमेंट का सामान रखते कुछ युवक नजर आए। दरअसल इस शैतानी करतूत से सैंकड़ों यात्रियों की जान जा सकती थी। बदमाशों ने बताया कि वे रेल डिरेलमेंट को लाइव देखना चाहते थे इसलिए उन्होंने मिलकर ऐसी योजना बनाई थी।





News Image

क्या शिव सेना ने Self Goal किया है ?

अभी तक की जो परिस्थिति है उसमें शिव सेना ना घर की है और ना घाट की। लेकिन राजनीति में ...


News Image

एक वक्त था जब एक पाकिस्तानी जासूस के लिए हिंदुस्तानी जनता ने लगाए थे ज़िंदाबाद के नारे

पाकिस्तानी जासूस – ये कहानी है बीकानेर की, जहां के लोगों के बीच एक दिन अचानक से किसी अंजान की ...


News Image

चीन में शादी के लिए दूसरे एशियाई देशों से अपहरण कर लाई जा रही हैं लड़कियां

नई दिल्ली | आए दिन भारत के पूर्वी राज्यों खासकर बिहार से ऐसी खबरें आती हैं कि किसी शादी-विवाह में ...


News Image

विराट-अनुष्‍का की शादी थी 'नकली' अब यहां दोबारा करनी होगी, इस दस्‍तावेज से खुला राज

विराट कोहली और अनुष्‍का शर्मा की शादी को लेकर नया खुलासा हुआ है। खबरों की मानें तो दोनों को दोबारा ...


News Image

जब भगवान शिव की हुई जलती लकड़ी से पिटाई

देवों में देव महादेव की कोई जलती लकड़ी से पिटाई करे ऐसा कोई सोच भी नहीं सकता लेकिन, यह बात ...


News Image

गुजरात चुनावो के बीच झूलता कश्मीर

2014 के लोकसभा चुनावों से पहले नरेंद्र मोदी ने कई नारे उछाले थे, उनमें से एक नारा था — “मिनिमम ...