मेरी बेटी मुझे लालू यादव की याद दिलाती है

Nanhe Sipahi | Jul 08, 2017 09:07 AM


News Image
 

आप सोच रहे होंगे कि मैंने ऐसा शीर्षक कैसे चुना | पर ये सच है कि मेरी बेटी मुझे लालू प्रसाद यादव की याद दिलाती है | जैसा की सारे भारतीय घरो में होता है बच्चे को खाना खिलाना सबसे बड़ी तकलीफ है | और आज कल के बच्चे हमारे ज़माने वाले भी नहीं है कि २ चमेट लगा के कहा कि खाना खाओ | आज कल बिना पोगो और निकलोडियन लगाए हमारे घर के बच्चे खाना नही खाते | यूट्यूब ने भी जीना मुश्किल कर रखा है | लिटिल बेबी और डेव एंड ईवा के rhymes जब तक नहीं चलाओ तब तक नौटंकी चालू | आल इन आल बात ये है कि इन बच्चो ने सारी चीज़ों पर कब्ज़ा कर रखा है टीवी, स्मार्टफोन और लैपटॉप | हमारे लिए तो मनोरंजन का कोई साधन छोड़ा ही नहीं है |



हमारे लालू प्रसाद जी भी उसी बिगड़े बच्चे की तरह है, सब पर टोटल कब्ज़ा लिए हैं| बहुत नौटंकी है प्रभु और मेरी बेटी की तरह धमकाते भी है की ये नहीं करोगे तो वो कर दूंगा | जब भी मेरी बेटी खाना नहीं खाती तो मैं कहता हूँ अच्छा ठीक है पापा खाएगा और बेटी कहती है "मत खाओ, हम खाएंगे" और फिर लालू जी की याद आ जाती है | "मत खाओ, हम खाएंगे" ऐसा लगता है जैसे लालू जी ही बोल रहे हैं | सीबीआई की रेड ने तो थोड़ा थाली छींनने की कोशिश की है पर यहाँ सरकार पर उलटे दबाब डाला जा रहा है की ये पोलिटिकल वेंडेटा है | अब आपके सुपुत्र अपनी मिट्टी अपनी सरकार को बेंचे और कहे की खाने नहीं दिया जा रहा है ये पोलिटिकल वेंडेटा कैसे हो गया | मीसा भारती को अभी कुछ दिन पहले सीबीआई ने पूछताछ के लिए बुलाया तो लालू जी की छोटी पुत्री ने ट्वीट कर के कहा की उनको प्रताड़ित किया जा रहा है, छोटी बेटी को घर छोड़ कर पूरा दिन पूछताछ में रहने से मीसा जी के बच्चे को कष्ट तो हुआ होगा पर कितनो की ज़मीन और पेट में लात मारने के बाद ऐसा कहना थोड़ा अचरज में डालता है|



ये देश का दुर्भाग्य है की लालू यादव को देश के सर्वोच्या न्यायालय ने चुनाव लड़ने से रोक दिया और आप जानते हैं की क्यों रोक दिया फिर भी दिल है की मानता नहीं | हम कांग्रेस को कई बार कोसते है की परिवारवाद है पर लालू परिवार का क्या | जिस प्रदेश से लाखो इंज़ीनियर, डॉक्टर, आईएएस, आईपीएस, निकलते हैं वहां लालू जी को अपनी बीबी श्रीमती राबड़ी देवी से ज्यादा उचित कोई विकल्प नहीं मिला मुख्यमंत्री के लिए | और नितीश जी को भी उपमुख्यमंत्री के पद के लिए कोई नहीं मिलना ये प्रदेश का दुर्भाग्य ही तो है |



वैसे बाकि बिहार के लीडर बड़े संयम वाले है पूरी जिंदगी पार्टी की सेवा की पर लालू जी ने अपने बेटे को प्रमोट कर दिया और फिर भी संन्नाटा है | किसी की कोई महत्वाकांछा है ही नहीं बुद्ध भगवान को ज्ञान हमारे यहाँ ही तो प्राप्त हुआ था सबको सहनशीलता बाँट दिए हैं है भगवान जी |

मेरी बेटी वैसे अब भी खाने से इंकार कर रहे हैं शायद देश के थोड़े लीडर मेरी बेटी से सीख लें |


ये भी पढ़ें  - लालू यादव ने मीसा का नाम मीसा क्यों रखा 


News Image

क्या शिव सेना ने Self Goal किया है ?

अभी तक की जो परिस्थिति है उसमें शिव सेना ना घर की है और ना घाट की। लेकिन राजनीति में ...


News Image

एक वक्त था जब एक पाकिस्तानी जासूस के लिए हिंदुस्तानी जनता ने लगाए थे ज़िंदाबाद के नारे

पाकिस्तानी जासूस – ये कहानी है बीकानेर की, जहां के लोगों के बीच एक दिन अचानक से किसी अंजान की ...


News Image

चीन में शादी के लिए दूसरे एशियाई देशों से अपहरण कर लाई जा रही हैं लड़कियां

नई दिल्ली | आए दिन भारत के पूर्वी राज्यों खासकर बिहार से ऐसी खबरें आती हैं कि किसी शादी-विवाह में ...


News Image

विराट-अनुष्‍का की शादी थी 'नकली' अब यहां दोबारा करनी होगी, इस दस्‍तावेज से खुला राज

विराट कोहली और अनुष्‍का शर्मा की शादी को लेकर नया खुलासा हुआ है। खबरों की मानें तो दोनों को दोबारा ...


News Image

जब भगवान शिव की हुई जलती लकड़ी से पिटाई

देवों में देव महादेव की कोई जलती लकड़ी से पिटाई करे ऐसा कोई सोच भी नहीं सकता लेकिन, यह बात ...


News Image

गुजरात चुनावो के बीच झूलता कश्मीर

2014 के लोकसभा चुनावों से पहले नरेंद्र मोदी ने कई नारे उछाले थे, उनमें से एक नारा था — “मिनिमम ...