तो प्रधानमंत्री को भी डर लगने लगा है ।

Nanhe Sipahi | Nov 30, 2017 02:11 PM


News Image
बीते कुछ दिनों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कुछ ऐसे बयान दे रहे हैं जिससे लगने लगा है कि मोदी को भी डर लगता है। यूँ तो मोदी सरकार के विरोधियों ने बीते दिनों GST और नोटेबंदी को लेकर सरकार की खूब धंज्जियाँ उड़ाई हैं लेकिन इतने सारे विरोध के बाद भी मोदी सरकार कभी बैकफुट पर नही रही। उल्टे सरकार नोटेबंदी का अपनी विजय के रूप में जनता को समझती रही। लेकिन हाल के दिनों में प्रधानमंत्री ने कुछ ऐसे बयान दिए हैं जिससे लगता है की नरेंद्र मोदी को भी नोटेबंदी का डर है।



केंद्र सरकार के आर्थिक सुधारों की कड़ी आलोचना होती रही है। विरोधी नोटबंदी और जीएसटी जैसे मामलों पर तो मोदी सरकार पर हमले का एक मौका भी नहीं गंवाते हैं। ऐसे में खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बार-बार कहने लगे हैं कि उनकी सरकार के उठाए जा रहे कदम उनके सियासी जीवन पर भारी पड़ सकते हैं। राजधानी दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में भी मोदी ने यह बात दोहराई।

प्रधानमंत्री ने कहा, 'मुझे पता है और मैं इसे भली भांति जानता हूं कि जिस रास्ते में पर चल पड़ा हूं। देश को जिस मंजिल पर पहुंचाने का मैंने लक्ष्य लिया है, उसकी कितनी बड़ी राजनीतिक कीमत चुकानी पड़ेगी। लेकिन मैं अपने कदम पीछे नहीं खींचूंगा।' नोटबंदी को सफल बताते हुए मोदी ने कहा कि काले धन की एक सामानंतर अर्थव्यवस्था खड़ी हो गई थी। नोटबंदी ने आंकड़ों की गहन छानबीन के जरिए शेल कंपनियों और भ्रष्ट लोगों पर कड़ी कार्रवाई करने में सरकार की मदद की।



उन्होंने कहा कि 2014 में उन्हें सिस्टम में बदलाव लाकर देश बदलने के लिए वोट मिला था और अब वह 125 करोड़ देशवासियों के विश्वास के दम पर सुधारों की प्रक्रिया आगे बढ़ा रहे हैं। मोदी ने कहा, '2014 में हमें वोट दिया गया था देश बदलने के लिए, सिस्टम में बदलाव लाने के लिए। 125 करोड़ देशवासियों का भरोसा इस देश के विकास की नींव है। देश के गरीबों, नौजवानों, महिलाओं और किसानों ने अपने सामर्थ्य और संसाधनों पर इतना भरोसा पहले कभी नहीं किया।'

प्रधानमंत्री ने आनेवाले दिनों में कैशलेस ट्रांजैक्शन के गति पकड़ने की उम्मीद जताई और कहा कि भविष्य में काला धन पैदा करना आसान नहीं रह जाएगा। मोदी ने कहा, 'हम ऐसी व्यवस्था की तरफ बढ़ रहे हैं जिसमें काला धन पैदा करना मुश्किल हो जाएगा। जिस दिन देश में ज्यादातर खरीद-फरोख्त डिजिटल माध्यमों से होने लगेगी, उस दिन से इस पर लगाम लगने लगेगी।'



News Image

एक वक्त था जब एक पाकिस्तानी जासूस के लिए हिंदुस्तानी जनता ने लगाए थे ज़िंदाबाद के नारे

पाकिस्तानी जासूस – ये कहानी है बीकानेर की, जहां के लोगों के बीच एक दिन अचानक से किसी अंजान की ...


News Image

चीन में शादी के लिए दूसरे एशियाई देशों से अपहरण कर लाई जा रही हैं लड़कियां

नई दिल्ली | आए दिन भारत के पूर्वी राज्यों खासकर बिहार से ऐसी खबरें आती हैं कि किसी शादी-विवाह में ...


News Image

विराट-अनुष्‍का की शादी थी 'नकली' अब यहां दोबारा करनी होगी, इस दस्‍तावेज से खुला राज

विराट कोहली और अनुष्‍का शर्मा की शादी को लेकर नया खुलासा हुआ है। खबरों की मानें तो दोनों को दोबारा ...


News Image

जब भगवान शिव की हुई जलती लकड़ी से पिटाई

देवों में देव महादेव की कोई जलती लकड़ी से पिटाई करे ऐसा कोई सोच भी नहीं सकता लेकिन, यह बात ...


News Image

गुजरात चुनावो के बीच झूलता कश्मीर

2014 के लोकसभा चुनावों से पहले नरेंद्र मोदी ने कई नारे उछाले थे, उनमें से एक नारा था — “मिनिमम ...


News Image

क्या होता है काला धन?

नैशनल इंस्टिट्यूट ऑफ पब्लिक फाइनैंस एंड पॉलिसी(एनआईपीएफपी) के मुताबिक, काला धन वह इनकम होती है जिस पर टैक्सकी देनदारी बनती ...