बर्बाद होती जिंदगियों की जिम्मेवारी कौन लेगा

Kirti | Aug 14, 2017 04:08 PM


News Image
गोरखपुर में जो घटना घाटी है वो हम में से किसी से नहीं छिपी है । सिर्फ 48 घंटों में 36 मासूम बच्चों की जान चली गयी  । कारण बताया जा रहा है हॉस्पिटल में ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी । बच्चों को समय पर ऑक्सीजन नहीं दी गयी और बच्चों की जान चली गयी । असल में जिस ऑक्सीजन कंपनी से ये हॉस्पिटल ऑक्सीजन पंप   मंगवाते थे वहां पहले से ही 66 लाख रु का भुगतान बाकि था । न्यूज़  चैनल में यह भी दिखाया गया की वो कंपनियां पहले से ही इस हॉस्पिटल से अपने due अमाउंट की मांग कर रही थी । तो फिर ये लापरवाही क्यों हुई । हॉस्पिटल वालों ने इस बात पर ध्यान क्यों नहीं दिया । क्या आपको नहीं लगता की इतने बच्चों की मौत किसी बीमारी से नहीं हुई है बल्कि ये सरासर उनकी हत्या की गयी है ।

इस मुद्दे पर सभी पार्टियां अपनी अपनी रोटियां सेकने में लग गयी । कांग्रेस के नेताओं ने तो CM योगी जी से इस्तीफा भी मांगना शुरू कर दिया और वहीँ एक खबर ये भी आ रही है की की मुख्यमंत्री जी को ये खबर ही नहीं थी । बात चाहे जो भी हो वो बचे जो अपने माँ बाप की गोदी सुनी कर गए वो लौट के तो नहीं आएंगे ।अब इस बात पर भले हमारे नेता कितनी भी राजनीति कर ले बात ये है की जब सब एक दूसरे पर कीचड़ उछलने में व्यस्त रहेंगे पर इस भ्रष्टाचार पर कोई नहीं बोलेगा ।हॉस्पिटल ने अपने देय अमाउंट को क्लियर क्यों नहीं किया ।अगर अस्पताल के पास पैसों की कमी थी तो उनलोगो ने हेल्थ आर्गेनाईजेशन या राज्य के स्वस्थ्य मंत्री  से बात करना जरुरी क्यों नहीं समझा ।


                                         
ऐसा नहीं  है की ये कोई पहली घटना है ।वो चाहे दवा की कंपनियां हों या हॉस्पिटल और डॉक्टर्स के भ्रष्टाचार से जुड़े मामले आये दिन हमें ऐसी खबरे पढ़ने और देखने को मिलती रहती हैं ।अक्सर अख़बारों में पढ़ने को मिलता है - डॉक्टर्स पैसों के लिए अपने ही मरीजों से ऐसे ऐसे टेस्ट करने को कहते हैं जिनकी उनकी जरुरत ही नहीं होती । अपने भी महसूस किया होगा की अक्सर Doctors किसी खास लैब में जा कर टेस्ट करने के लिए कहते हैं क्यों ,क्यिंकि उनका उस लैब में कमीशन बनता है ।

मेडिकल कंपनियां का तो इन सबसे आगे हैं, इनका कोई मुकाबला ही नहीं है । आपको लगता होगा की डॉक्टर्स अपने प्रिस्क्रिप्शन में जो दवाएं लिखते हैं वो सबसे अच्छी दवा होती है । पर ऐसा बिलकुल नहीं है । ये एक बहुत बड़ी बिज़नेस डील का हिस्सा है । डॉक्टर्स और इन मेडिकल कंपनियों में पैसों पर डील होती है । जो कंपनियां डॉक्टर्स के साथ ये कमिटमेंट कर लेती हैं । डॉक्टर्स उन्ही कंपनी की दवा मरीजों के लिए लिखते हैं । ये मेडिकल कंपनियां डॉक्टर्स के लिए गिफ्ट ,कैश ही नहीं बल्कि उनके विदेशों  हॉलिडे ट्रिप का पूरा खर्चा उठाते हैं । पर हाँ मैं ये भी जरूर बताना चाहूंगी ,की आज भी बहुत सारे डॉक्टर्स हैं जो बिज़नेस के साथ अपने मरीजों के हेल्थ पर भी ध्यान देते हैं और गलत दवाओं को नहीं चुनते हैं ।

पर एक बात  बताइये हमारी जिंदगी से ये खिलवाड़ क्यों  किया जा रहा है । आपको नहीं लगता की इसके लिए कोई कानून निकला जाये । इस मामले में एक हमारे पधानमंत्री मोदी जी ने एक पहल की है ,कहा जा रहा है की मोदी जी एक कानून लाने वाले हैं जिसके तहत मेडिकल स्टोर्स और डॉक्टर्स को देने वाले गिफ्ट और टूर की कीमत १००० से ज्यादा नहीं होनी चाहिए ।



मेडिकल में करप्शन की बात यहीं पर ख़तम नहीं होती । यह भी देखा गया है सरकारी अस्पताल में काम कर रहे अधिकतर डॉक्टर बिना किसी जानकारी और परमिशन लिए बगैर अपने अपने प्राइवेट क्लिनिक खोल कर बैठ जाते हैं । क्यों कि वो सरकारी अस्पताल में अपनी मनमानी नहीं कर सकते वहीं डॉक्टर्स अपने प्राइवेट क्लिनिक में मरीजों से मुँह मांगे दाम वसूल करते हैं और अस्पताल में आने वाले मरीजों पर ध्यान नहीं देते ।

यही भ्रष्टाचार मेडिकल डिवाइस बनाने वाली कंपनियों के साथ भी जुड़े हैं । असल में  मेडिकल डिवाइस की असली कीमत कुछ हजार रुपयों में होती हैं । पर वहीं मरीजों से लाखो और करोड़ो रुपये वसूल की जाती हैं । तो अब इस तरह से भ्रष्टाचार के दलदल में फसे हुए डॉक्टर्स को क्या आप आज भी भगवान् का दूसरा रूप कहेंगे ।।


News Image

क्या शिव सेना ने Self Goal किया है ?

अभी तक की जो परिस्थिति है उसमें शिव सेना ना घर की है और ना घाट की। लेकिन राजनीति में ...


News Image

एक वक्त था जब एक पाकिस्तानी जासूस के लिए हिंदुस्तानी जनता ने लगाए थे ज़िंदाबाद के नारे

पाकिस्तानी जासूस – ये कहानी है बीकानेर की, जहां के लोगों के बीच एक दिन अचानक से किसी अंजान की ...


News Image

चीन में शादी के लिए दूसरे एशियाई देशों से अपहरण कर लाई जा रही हैं लड़कियां

नई दिल्ली | आए दिन भारत के पूर्वी राज्यों खासकर बिहार से ऐसी खबरें आती हैं कि किसी शादी-विवाह में ...


News Image

विराट-अनुष्‍का की शादी थी 'नकली' अब यहां दोबारा करनी होगी, इस दस्‍तावेज से खुला राज

विराट कोहली और अनुष्‍का शर्मा की शादी को लेकर नया खुलासा हुआ है। खबरों की मानें तो दोनों को दोबारा ...


News Image

जब भगवान शिव की हुई जलती लकड़ी से पिटाई

देवों में देव महादेव की कोई जलती लकड़ी से पिटाई करे ऐसा कोई सोच भी नहीं सकता लेकिन, यह बात ...


News Image

गुजरात चुनावो के बीच झूलता कश्मीर

2014 के लोकसभा चुनावों से पहले नरेंद्र मोदी ने कई नारे उछाले थे, उनमें से एक नारा था — “मिनिमम ...